Tuesday, 9 August 2011

अपनी भूमि का क्षेत्रफल स्वयं नापें

प्रायः यह देखने में आता है कि गांव के किसानों को अपनी भूमि के क्षेत्रफल की सम्यक जानकारी नहीं हो पाती है। उन्हें यह मालूम नहीं होता है कि खतौनी में अंकित रकबा के अनुसार मौके पर उतनी ही भूमि उपलब्ध है अथवा नहीं। इसके लिए वे लेखपाल व कानूनगों पर निर्भरशील रहता है। पुरानी सर्वे पद्धति में क्षेत्रफल को नापने में समय भी लग जाता है।

Information Technology एवं साफ्टवेयर का लाभ लेकर अब यह आसानी से किया जा सकता है। इस उद्देशय हेतु निम्न प्रक्रिया प्रस्तावित है:-
(1) प्रथम चरणः-
      अपनी भूमि का यह अनुमानित चित्र बनाये। (जैसा भी हो)














(2)द्वितीय चरणः-
      जैसा कि ऊपर दर्शाया गया है, मानचित्र के अन्दर अनुमानित त्रिभुज अथवा आयत क्षेत्र बनायें।

   
(3)तृतीय चरण:-
      सभी त्रिभुजों/ आयत क्षेत्रों को 1,2,3 ऐसे चिन्हित करें।

   
(4) चतुर्थ चरणः-
      इन त्रिभुजों एवं आयत क्षेत्रों की भुजाओं का नाप लें (कड़ी अथवा मी0 किसी भी इकाई में)                                                                 (जैसे भी स्थिति हो।)
          AB    =       10
          BC    =       12
          AC    =       15
  
(5) पंचम चरणः-
      सभी त्रिभुजों/ आयत क्षेत्रों के क्षेत्रफल को निम्न साफ्टवेयर में डालकर अलग-अलग उनका क्षेत्रफल निकालें।
  

                                                                                                                         क्षेत्रफल नापें

(6) षष्टम चरणः-
      मानचित्र के अन्दर सभी/त्रिभुजों/आयत क्षेत्र के क्षेत्रफल को जोड़कर अपनी भूमि का क्षेत्रफल निकालें। 
      उल्लेखनीय है कि जिन Mobile Phones में GPRS की सुविधा उपलब्ध है, उस Phone में उपरोक्त Software को Download कर मौके पर ही क्षेत्रफल का आंगणन किया जा सकता है।
Post a Comment