Wednesday, 17 August 2016

बाबतपुर हवाईअड्डा जहाँ कर्मचारी भी बन बैठे हैं अधिकारी

वाराणसी। जनपद के लाल बहादुर शास्त्री अन्तर्राष्ट्रीय हवाईअड्डे पर गजब का हाल है यहाँ कई प्रकार की अनदेखी अधिकारियों की आँखों के सामने होती हैं और अधिकारी मौन रहते हैं यहाँ तक कि कुछ लोगों ने यह भी बताया कि अधिकारियों की मिलीभगत से जमकर धन उगाही हो रही है।

अब हाल देखिये हवाईअड्डे के एटीएम (एयरपोर्ट टर्मिनल मैनेजर) कार्यालय का यहाँ मैनेजर के पद पर कार्यरत जेई सुकुमार, तमिलनाडू के रहने वाले हैं और उनको हिंदी कम समझ में आती है जिसके चलते आम दिनों में यहाँ पास जारी करवाने तथा शिकायत सहित अन्य कार्यों हेतु आने वाले लोगो को परेसान होना पड़ता है अब इसके बाद यहाँ पर संविदा पर एक युवक कार्यरत है जलवे ऐसे हैं कि वह खुद को टर्मिनल मैनेजर से ऊपर समझता है कई लोगों से उसके बारे में जानकारी एकत्र करने का प्रयास किया गया कि वह हवाईअड्डे पर किस पद पर कार्यरत है जिसमें कुछ लोग उसे चपरासी तथा कुछ लोग कम्प्यूटर ऑपरेटर बताये फ़िलहाल निदेशक से भी संपर्क करने का प्रयास किया गया लेकिन उनका फोन नहीं उठ पाया अब वह किस पद है यह पूरी तरह स्पष्ट नहीं हो पाया है यह जानकारी आगामी पोस्ट में लिखा जायेगा।

अब सुनिए डीजीसीए अधिकारियों द्वारा 8 अगस्त से 22 अगस्त तक विजिटर सहित अन्य सभी प्रकार के पास के साथ ही प्रवेश टिकट पर भी रोक लगाया गया है लेकिन बावजूद इसके उक्त कार्यालय द्वार सभी नियमों और आदेशो को ताक पर रखकर प्रतिदिन पास जारी कर दिए जा रहे हैं जबकि जब मीडियाकर्मी पास के लिए जाते हैं तो इनके नखरे बदल जाते हैं और उलूल जुलूल सवाल पूछा जाता है आलम यह है कि पत्रकार ही इनको आतंकवादी नजर आते हैं।

जुड़े रहिये हमारे साथ जल्द ही हवाईअड्डे के कई अन्य मामले का खुलासा किया जायेगा

हवाईअड्डे के वरिष्ठ पत्रकार गजेन्द्र सिंह के ब्लॉग से साभार

Post a Comment