Tuesday, 23 August 2016

बाढ़ से प्रभावित प्रदेश के किसानो की फसलो का तत्काल मुआवजा दे सरकार :- जयराम पाण्डेय

भूमि भवन फसल संपत्ति व जन धन हानि कि ईमानदारी से हो सर्वे।

सभी तरह के कर्जे व सरकारी वसूली हो बंद ।

लोहता. लोकदल वाराणसी व मिर्ज़ापुर मंडल के अंतर्गत आने वाले जनपदों के पदाधिकारियो की एक बैठक लोहता स्थित पूर्वी जोन कार्यालय पर मंगलवार को राष्ट्रिय सचिव अखिलेश सिंह की अध्यक्षता में हुई। जिसमे भदोही मिर्ज़ापुर सोनभद्र वाराणसी जौनपुर चंदौली व ग़ाज़ीपुर के उपस्थित पदाधिकारियो को संबोधित करते हुए लोकदल उत्तर प्रदेश के प्रवक्ता जयराम पाण्डेय ने कहा कि पूर्वांचल में पिछले एक माह से हो रही मूसलाधार वर्षा से किसानो के फसलो की भारी छति हुई है। गंगा बरुणा गोमती सई व सोन नदी खतरे का निशान पार कर भारी तबाही मचाई है। जिसकी आगोश में आकर किसानो गरीबो मज़दूरों का जीवन भर की कमाई भूमि भवन फसलो के साथ ही जन धन तथा मवेशियों को भरी छति पहुची है। पूर्वांचल में शासन व प्रसाशान के जिम्मेदार अधिकारी सिर्फ खाना पूर्ति करने में ब्यस्त है। गांव से लेकर सहरो तक जलप्लावन से हा हा कार मचा हुआ है। गंगा बरुणा गोमती सई घाघरा आदि नदिया कहर बरपा रही है। सम्बंधित जिलो में जिला प्रसाशन द्वारा स्थापित राहत शिविरो में पीडितो बूढो बच्चों तथा मवेशियों को आवश्यक सुबिधा नहीं मिल पा रही है। लोग अपने घरो में कैद हो कर पिने के पानी व भोजन के अभाव में अंधकारमय जीवन जीने को विवष है।
अपने अध्यक्षीय सम्बोधन में लोकदल के राष्ट्रिय सचिव अखिलेश सिंह ने कहा कि दैविक आपदा के नाम पर लाखो करोड़ो रूपये हर वर्ष जिला प्रसाशन को दिए जाते है। लेकिन जिला प्रसाशन के जिम्मेदार अधिकारी सिर्फ खाना पूर्ति करने तक ही सीमित रहते है।

लोकदल बाढ़ पीडितो के साथ अन्याय नहीं होने देगा।

बाढ़ से प्रभावीत किसानो को तत्काल मुआवज़ा देने,
बाढ़ से भूमि भवन जन धन की हुई छति का ईमानदारी से सर्वे कराये जाने, सभी तरह के सरकारी क़र्ज़ व वसूली पर तत्काल रोक लगाने की मांग करता है।
  बैठक में प्रमुख रूप से  जिलाध्यक्ष रमेश गुप्ता,रिज़वान अहमद,घनश्याम ओझा,सूर्यवंश सिंह, आरके शर्मा, ओमप्रकाश गुप्ता, रामदुलारे नट, सौरभ सिंह, विनोद कुमार सिंह आदि पदाधिकारी वाराणसी व मिर्ज़ापुर मंडल उपस्थित थे।

Post a Comment