Friday, 19 August 2016

यही है राष्ट्र द्रोह जनता से सूचना छिपाना 

वाराणसी। आखिर क्या गलत काम करते है वी आई पी कक्ष एयरपोर्ट बाबतपुर वाराणसी में  नेता या मंत्री जिसे छुपाना चाहती है सी आई एस एफ?

पी एम इंदिरा गांधी को किसने मारा इसी सुरक्षा कर्मियो ने मारा । राजीव गांधी पी एम को बट से सुरक्षा कर्मी ने ही श्रीलंका में मारा। पंजाब के सी एम बेअंत सिंह सुरक्षा कर्मियो के चुक के चलते मारे गये।

अब बाबतपुर वाराणसी एयरपोर्ट पर किस साजिश की खिचड़ी पक रही ?

आइए देखते दो इलेक्ट्रॉनिक चैनल का पास एयरपोर्ट एथारिटी ने जारी किया ।सी आई एस एफ ने कहा कैमरे का पास बनवाओ ।दोनो गये कैमरे का पास बनवा कर लिये ।सी आई एस एफ ने पास लिया फाड दिया ।सवाल क्या छिपाना चाहती है सी आई एस एफ ? क्या वीआई पी एयरपोर्ट के अन्दर गलत काम करते है जिसे जनता नही देखे ।
और यह वही सी आई एस एफ जो गाजीपुर में अफीम फैक्टरी की सुरक्षा करते हुए अफीम बेचने में पकडी गयी। इसके बाराबंकी के कैम्प पर दो आतंकी घुसे इनको मार कर फरार हो गये सभी सी आई एस एफ जवान दारू पीकर टुन्न थे ।

पत्रकार का कैमरा से लेकर कलम तक चेक होता है। बिना हथियार के कोई कुछ नही कर सकता जबकि सी आई एस एफ जवानो के पास हथियार होता है। सुरक्षा कर्मियों ने पी एम की हत्या कर चुके है। जबकि पत्रकारों पर ऐसा आरोप आज तक नही है ।

मुझे शक है एयरपोर्ट पर तैनात कुछ लोग कुछ कांड बडा करने के फिराक में है और यह पत्रकारों को इसीलिये रोकते है कि इनकी साजिश का पर्दाफाश ना हो जाये। समय रहते इन्हे नही रोका गया तो बडा कांड हो सकता है ।जब भी वीआई पी आते है तो क्षेत्र के चर्चित अपराधी वीआईपी कक्ष से लेकर सिक्योरिटी होल्ट एरिया तक जाते है ।

देश की जनता ही मालिक है उसे ही रोक कर किस बात की सुरक्षा ।

जनतंत्र में जब भी जन को रोकने का काम सरकार करेगी तो जनाआदोलन होगा और सरकार उखाड़ फेकेगी जनता ।

हवाईअड्डे के वरिष्ठ पत्रकार गजेन्द्र सिंह की कलम से...

Post a Comment