Thursday, 1 September 2016

वाह रे सरकार कहाँ थी आपकी एम्बुलेंस

वाराणसी। बाबतपुर हवाई अड्डे पर बुधवार को एयर इंडिया के विमान AI - 433 द्वारा गया से दिल्ली जा रहे पैसेंजर राजेश त्रिपाठी की हालत खराब हो गई और इसके बाद उसे विमान से उतारकर हवाईअड्डे पर स्थित इमरजेंसी रूम में लाया गया जहां उसका इलाज किया गया लेकिन उसकी स्थिति चिंताजनक बन रही इसके बाद मौके पर पहुचे एयरपोर्ट निदेशक ने उसे तत्काल शहर भेजने के लिए सोचा और हवाईअड्डे से एंबुलेंस के लिए फोन किया गया लेकिन कोई भी सरकारी एंबुलेंस डेढ़ घंटे तक एयरपोर्ट पर नहीं पहुंचा अंत में हवाई अड्डे के फायर विभाग के एंबुलेंस के द्वारा बीमार यात्री को शहर में इलाज के लिए भेजा गया लेकिन रास्ते में ही उसने दम तोड़ दिया।
अब बड़ा सवाल यह है कि जिस प्रकार सरकार दावे किए जाते हैं क्या यही दावे हैं क्या यही हकीकत है? और ऐसे इंटरनेशनल प्लेस पर डेढ़ घंटे तक कोई एंबुलेंस नहीं पहुंचा और यदि कोई बड़ा हादसा होगा तो ऐसे में क्या और कैसे चिकित्सकीय सुविधा मुहैया कराई जाएगी?

यह भी जानिए
पिछले माह 2 अगस्त को सोनिया गांधी वाराणसी में आई थी और वाराणसी में रोड शो के दौरान उनकी तबीयत खराब हो गई उसके बाद उनको शहर से इलाज कराने के बाद वापस भेज दिया गया रास्ते में उनकी हालत और बिगड़ गई और हवाई अड्डे पर पहुचते ही उनको cip लाउंज में भर्ती किया गया लेकिन सुविधाओं के नाम पर कुछ नहीं रहा। उनके साथ जो एंबुलेंस चल रही थी उसमें भी चिकित्सा की सुविधाएं नहीं थी यूरिनल पाट सहित कई उपकरणों को बाहर से मंगाया गया इस बारे में जनपद का पूरा स्वास्थ्य महकमा अपना बचाव करता दिखाई दिया लेकिन अब एक यात्री की जान चली गई और हवाईअड्डे पर डेढ़ घंटे में एंबुलेंस नहीं पहुंचा यह भी एक बड़ा सवालिया निशान है।

मृत विमान यात्री की फाइल फोटों

Post a Comment